BAUNA WAAMAN

Email
Printed
BAUNA WAAMAN
Code: SPCL-0195-H
Pages: 64
ISBN: 9789332408357
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Jolly Sinha
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Vitthal Kamble
Colorist: N/A
Rs. 50.00
24h.gif
Description नारका जेल पर हमला किया एक रहस्यमय यंत्र मानव ट्रोनिका ने! और उसने छुड़ा लिया खिलौनों को उँगलियों पर नचाने वाले बौना वामन को! दूसरी तरफ डाक्टर पिल्लै और श्वेता ने मिल कर एक ऐसी चिप इजाद की है जो किसी के दिमाग की कमांड से किसी इलोक्ट्रोनिक यंत्र को चला सकता है! पर इससे पहले कि वो उस चिप को उसके मालिक मिस्टर हराकी और तकाशी को सौंपते उसको चुराने आ पहुंचा बौना वामन! आखिर किसने छुड़ाया बौना वामन को और क्यों चाहिए उसे वो चिप! क्या ध्रुव इस गुत्थी को सुलझा पाया या इस बार चल गई ट्रिक बौना वामन की!
Bundled Collections that have this Comics

Reviews

Thursday, 26 June 2014
मैं कुछ उन चुनिन्दा लोगों में से हूँ जिन्हें अनुपम-विनोद से अधिक अनुपम-विट्ठल का चित्रांकन ज्यादा मज़ेदार और रोचक लगता है क्यूंकि अनुपम जी विट्ठल जी का चित्रांकन वास्तविक न होकर कॉमिक्स की काल्पनिक संसार की खुशबू से सरोबार होता है और एक्शन दृश्यों में अधिक गति और तरलता रहती है. तो सर्वप्रथम मुझे इस कॉमिक्स में अनुपम-विट्ठल जी का चित्रांकन बोहोत बोहोत अच्छा लगा विशेषकर ध्रुव और निन्जजा के बीच के एक्शन दृश्य. बस एक कमी लगी कि ध्रुव ने निन्जजा को ज़रा जल्दी हरा दिया और ध्रुव की ट्रौनिक से लड़ाई भी रोमांच और बेहतरीन एक्शन मूव्स से भरपूर रही. बौना वामन के रूप में अनुपम जी ने ऐसा खलनायक उत्पन्न किया है जो क्रूर भी है और बीच में मसखरी भी करता है और जब ऐसे खलनायक पे रहस्य से भरी कॉमिक्स बनती है तो उसका श्रेष्ट होना लाजमी है. बेहद अच्छी कॉमिक्स थी. 9/10.
sachin dubey
Monday, 10 February 2014
Again the return of one of SCD's foe with a bang. Story developed in a very good way. Artwork is also amazing. Must read.
Rajal Sharma
Saturday, 08 February 2014
comics achhi achhi... Story plot, artwork & dialogues sabhi mast hai... vileen ke rup me bauna waaman ki dhmakedaar wapsi huyi hai... par comics me Ninza ka role pasand nahi aaya... agar ninza iase harne lage to ho chuka... achhi comics hai.
PREM YADAV
More reviews