SHAH AUR MAAT

Email
Printed
SHAH AUR MAAT
Code: SPCL-0215-H
Pages: 64
ISBN: 9789332408555
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Anupam Sinha
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Vinod Kumar, Naresh Kumar, Vitth
Colorist: Sunil Pandey
Rs. 50.00
Add to wish list
Description शह और मात #0215-एक रहस्यमय शख्स शतबुद्धि मनोवैज्ञानिकों की हत्या कर चुरा रहा था उनका दिमाग! और बना रहा था एक ब्रेन सिस्टम! इसी कड़ी में एक मनोवैज्ञानिक नटालिया पर हुआ हमला जिसे ध्रुव ने बचा लिया! पर अब शतबुद्धि को चाहिए ध्रुव का दिमाग! क्योंकि ध्रुव का दिमाग ही पूरा कर सकता है उसके सिस्टम को! पर क्या ध्रुव का दिमाग चुराना इतना आसान है! बिसात बिछ चुकी है चालें चली जा चुकी है! अब देखना है कौन देता है किसको शह और मात!
Bundled Collections that have this Comics

Reviews

Monday, 10 February 2014
ek alien ship dikha rajnagar mein aur logon k brain ki chori kar raha hai koi aur ab woh dhruva k dimag k pi6e pada hai.kya hai odantastri ka rahasya. very good comics. recommended.
AYAZ AHMAD
Sunday, 09 February 2014
ye comic me allien ka suspense hai.joki actually earth ke hi log hai.
LOKANATH NANDA
Sunday, 09 February 2014
a very good simple story with an outstanding artwork.dhruv makes good use of brain in the end. must read.
GAURI KUMARE
More reviews