NEGATIVES

Email
Printed
NEGATIVES
Code: SPCL-2527-H
Pages: 160
ISBN: 9789332421196
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Jolly Sinha
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Vinod Kumar
Colorist: Abhishek Singh
Rs. 200.00
Add to wish list
Description निगेटिव्स # 2527 वो खुद को निगेटिव्स कहते थे! क्या थे, कहां से आए? यह एक रहस्य था! लेकिन इतना विदित था कि वो इस दुनिया के हर प्राणी को परछाईयों में बदल कर अपनी ही तरह के निगेटिव्स बनाना चाहते थे! उनका पहला शिकार बने तिरंगा और डोगा! और अब बारी है परमाणु, ध्रुव और नागराज की! सबसे पहले टूटेगी दुनिया की सुरक्षा पंक्ति और फिर आसानी से बन जाएगी पूरी दुनिया... निगेटिव्स!

Reviews

Tuesday, 28 October 2014
Nagraj, dhurva, doga, tiranga aur andere me aane jane Vale aur roshni se nafrat karne Vale negatives ki mutbera dekhai gayi hai.Good story and artwork.Tiranga ka come back accha laga.
RISHIT RISHIT
Wednesday, 22 October 2014
इसे नागराज मल्टीस्टार विशेषांक नहीं....तिरंगा मल्टीस्टार विशेषांक कहना चाहिए..। लोरी और चंडिका को इतना स्पेस दे सकते थे तो...राज कॉमिक्स की सुपर हेरोइन शक्ति के लिए भी कुछ होना चाहिए था..। एक बार पढ़ सकते है ...लेकिन दोबारा कहूँगा...not worth for ₹200/-..
Nabi Ahmad
Sunday, 14 September 2014
nice story and artwork
ravinder singh
More reviews