NAGRAJ DIGEST 2

Email
Printed
NAGRAJ DIGEST 2
Code: DGST-0042-H
Pages: 64
ISBN: 9789332418219
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Parshuram Sharma
Penciler: Sanjay Ashtputre
Rs. 40.00
Add to wish list
Description इंटरनेशनल आतंकवादी चांगो के आतंकवादियों ने सिल्वरलैंड के किंग तोकामा की ह्त्या कर के सिल्वरलैंड पर कब्जा कर लिया. सिल्वरलैंड की राजकुमारी ताकाशी बच कर भाग निकली. मार्शल आर्ट्स के मास्टर सुजुकी ही अब उसकी मदद कर सकते थे. लेकिन होंगकोंग पहुँचते ही राजकुमारी ताकाशी चांगो के चुंगुल में फंस गयी. नागराज ने ताकाशी को चांगो के अड्डे से बचाया और उसे मास्टर सुजुकी से मिलवाने ले गया. सिल्वरलैंड की आजादी की लड़ाई में ताकाशी कि मदद करने के लिए सुजुकी ने मार्शल आर्ट्स के माहिर अपने शिष्य शांगो को बुलाया. लेकिन इससे पहले कि शांगो वहाँ पहुँच पाता चांगो के आतंकवादियों ने सुजुकी की ही ह्त्या कर दी. जब शांगो सुजुकी कि मठ में पहुंचा तो मरते हुए सुजुकी के मुंह से नागराज का नाम निकला और शांगो ने नागराज को ही सुजुकी का हत्यारा समझ लिया अब शांगो को बदला लेने के लिए नागराज कि तलाश है. क्या अपने दुश्मन का खात्मा करने से पहले नागराज को अपने मददगार से लेनी होगी टक्कर? इसी घमासान जंग पर आधारित है यह संयुक्त कॉमिक्स डाइजेस्ट. इसमें आपको पढ़ने को मिलेंगी 32 -32 पेज की 2 कॉमिक्स नागराज की होंगकोंग यात्रा और नागराज और शांगो.
Bundled Collections that have this Comics

Reviews

Thursday, 25 September 2014
Although I have read it so many times, I still re read these.
Vishal Bakhai
Friday, 14 March 2014
Parshu Ram Sharmaji rocked those days & the result was these two classics which are not to be missed by anyone.
Rajal Sharma
Thursday, 06 February 2014
dono comics ek hi story ka part hai..apne guru ki maut ka kaaran shango ne nagraj ko maan liya hai aur nikal pada hai uska khatma karne..good comics....go for it
Abhinav Kumar
More reviews