NAGRAJ DIGEST 4

Email
Printed
NAGRAJ DIGEST 4
Code: DGST-0046-H
Pages: 64
ISBN: 9789332418257
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Sanjay Gupta
Penciler: Pratap Mulick
Rs. 40.00
Add to wish list
Description खूनी जंग:- आतंकवाद के खात्मे के सफर पर निकला नागराज जा पहुँचा योरोप. योरोप के आसमान पर ही नागराज पर होता है प्राण घातक हमला. लेकिन नागराज की जान बहुत ढीठ है. आसानी से नहीं जाती. यहाँ नागराज गेम्ब्लिंग फाइट के लड़ाकों से टकराता हुआ पहुंचता है गेम्ब्लिंग फाइटस अरेंज कराने वाले सबसे बड़े धुरंधर डीसिल्वा के पास. डीसिल्वा ही है जो कि उसे योरोप के सबसे बड़े आतंकवादी सीमेन तक पहुंचा सकता है. लेकिन उसकी राह मे अभी खड़ा है मोंटे कार्लो का तूफ़ान हंटर. यदि हंटर से बच पाया तभी सीमेन तक पहुँच पायेगा नागराज. प्रलयंकारी नागराज:- योरोप के भयंकर आतंकवादी सीमेन के क्या कहने नागराज के अपने तक पहुँचने से पहले ही वो खुद नागराज तक पहुँच गया और नागराज को बंदी बना कर उसे अपने मौत के किले मे कैद कर लिया. मौत का किला जहाँ से आज तक कोई मुर्दा भी बहार नहीं आ सका, क्या नागराज वहाँ से जिन्दा वापस आ पायेगा, क्या नागराज सीमेन के आतंकवाद को खतम कर पायेगा?
Bundled Collections that have this Comics

Reviews

Thursday, 25 September 2014
Best is the pralayankari Nagraaj. :)
Vishal Bakhai
Sunday, 09 February 2014
ek aur nagraj collectiom ka digest. y digest nagraj k do gen issue le k aaya hai pralaynkari nagaraj aur khooni jung.is cocmis me nagraj europe me pahuncha hua hai aur seaman ko dhoondhata hai par qaid ho kar reh jaata hai. uska qaid se nikalna aur alag alag badhaye par karni bahut rochak story hai. no one beats claasic. comic me hai bas maza maza aur maza
Karandeep Singh Marjara
Thursday, 06 February 2014
2no cmx mast h n series me h Es bar nagraj pahuchta h Europe me jaha pe hunter kar deta h uski naak me dum. nagraj fas jata h seaman ki kaid me. nagrak kese waha se nikalta h n kese seaman ko harata h wo cmx me padhe Artwork shandaar h
Deepak Pooniya
More reviews