PARMANU DIGEST 08

Email
Printed
PARMANU DIGEST 08
Code: DGST-0097-H
Pages: 206
ISBN: 9789332423299
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Haneef Ajhar
Penciler: Manu
Inker: Manu
Colorist: N/a
Rs. 160.00
Add to wish list
Description अंगार-629-परमाणु का सामना है इस बार एक ऐसे खतरनाक दुश्मन से जो चलती फिरती भट्ठी है। वो अपने सामने पड़ने वाली हर चीज जला कर खाक कर देता है। क्या परमाणु इस अंगार नाम की इस दहकती भट्ठी को बुझा पाएगा या दहकती मौत का शिकार हो जाएगा।गुणाकर-638 गुणाकर जो अपने नाम के अनुरूप खुद को गुणा कर सैकड़ों रूप बना सकता है। और जब परमाणु उसे रोकने पहुंचा तो गुणाकर के रूपों ने उसे जकड़ लिया और मौत तेजी से उसे कुचलने के लिए आगे बढ़ने लगी क्या परमाणु अपनी इस निश्चित मौत को टाल पाया।शिकार-647 दिल्ली में आतंक मचाने आ गई खूंखार हायना। रोजाना मिलने लगी दिल्ली की सड़कों पर नुची फटी लाशें। और जब परमाणु इस रहस्य की तह तक पहुंचा तो उसे लगा अपनी जिंदगी का सबसे बड़ा झटका। कौन थी यह हायना। क्या परमाणु खुद को बचा पाया होने से इसका शिकर।फंदेबाज-652 फंदेबाज जोकि कानून के रक्षकों का जानी दुश्मन है। एक-एक करके उनको अपने फंदों में लटका कर फांसी दे रहा है। और जब परमाणु उसे रोकने पहुंचा तो उसने परमाणु को भी अपने फंदों के जाल में फंसा दिया। क्या परमाणु मौत के इन फंदों से बच पाया? आखिर क्या दुश्मनी है फंदेबाज की कानून के रक्षकों से।अब मरेगा परमाणु-59 एक मास्टरमाईंड ने परमाणु के सभी बड़े दुश्मनों अंगार, हायना, गुणाकर, फंदेबाज, टाइफून को किया इकट्ठा और बनायी सबसे बड़ी लूट की योजना। और जब परमाणु उसे रोकने पहुंचा तो वो खुद फंस गया उनके द्वारा बिछाए गये मौत के जाल में। तो क्या अब सचमुच मरेगा परमाणु?

Reviews

There are yet no reviews for this product.