NAGRAJ DIGEST 34

Email
Printed
NAGRAJ DIGEST 34
Code: DGST-0107-H
Pages: 252
ISBN: 9789332424487
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Anupam Sinha, Jolly Sinha
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Sagar Thapa, Vinit Siddharth, Ga
Colorist: Sunil, Shadab
Rs. 200.00
Add to wish list
Description अवशेष-2430# राजनगर के समुद्र से बाहर निकलते हें एक पुरानी नगरी के अवशेष. इन अवशेषों में घटने लगती हें रहस्मयी घटनाएँ जिसका असर पड़  रहा हे राजनगर और महानगर के निवासियों की जिंदगी पर. नागराज और ध्रुव महानगर और राजनगर को बचाने के लिए पहुँच जाते हें उन अवशेषों पर जो पूरी दुनिया को बनाने पर तुले हें अवशेष!चुनौती-2445# समुद्र का सीना फाड़कर बाहर निकले हैं एक पुरानी नगरी के अवशेष और दुनिया पर टूट पड़ती हैं अनोखी मुसीबतें. नागराज और ध्रुव जब इस समस्या के समाधान के लिए इन अवशेषों पर जाते हैं तब घटता है  कुछ ऐसा भयानक कि एक नागराज के सामने होते हैं कई नागराज और एक ध्रुव के सामने होते हैं कई ध्रुव और सभी मिल कर बन गए हैं नागराज, ध्रुव और पृथ्वी के अस्तित्व के लिए चुन्नोती!हैड्रोन-2449# पृथ्वी पर जीवन की शुरुआत कैसे हुई? इस जिज्ञासा को शांत करने के लिए विज्ञानिकों ने दी ईश्वरीय नियमों को चुन्नोती और बना डाला हैड्रोन कोलाइडर. इस परिक्षण से ब्लैकहोल का निर्माण हो गया है और ब्रह्माण्ड के विभिन्न आयाम एक दूसरे में समाने लगे हैं. हमारे आयाम की धरती पर ब्रह्माण्ड के हर आयाम के नागराज और ध्रुव आ पहुंचे, पृथ्वी वासियों को उनकी गलती की सजा देने के लिए. हमारे आयाम की धरती का ध्रुव खुद समा गया है ब्लैकहोल में और नागराज को घेर लिया है अन्य आयामों के नागराजों ने. क्या ब्लैकहोल मे समाती धरती को बचा पायेगा नागराज? क्या ब्लैकहोल से वापस आ पायेगा ध्रुव? ब्रह्माण्ड की सबसे ताकतवर शक्ति से टकराए हैं इस बार नागराज और सुपर कमांडो ध्रुव.
Bundled Collections that have this Comics

Reviews

There are yet no reviews for this product.