प्यारे राज कॉमिक्स दोस्तों, आप सभी के बेइंतिहा प्यार और जनून कि वजह से  राज कॉमिक्स सिल्वर जुबली फंक्शन, नागराज जन्मोत्सव और कल्पनालोक एवार्ड्स सफलता पूर्वक और बहुत धूम धाम के साथ संपन्न हुए. राज कॉमिक्स परिवार आप सभी राज कॉमिक्स दोस्तों, रायटर्स और आर्टिस्ट्स का तहेदिल से आभारी है. वर्ष 1985 में मेरे पिता श्री राज कुमार गुप्ता ने राज कॉमिक्स की स्थापना की. नागराज, ध्रुव, डोगा, भेडीया, भोकाल, परमाणु जेसे सुपर हीरोज ने राज कॉमिक्स में चार चाँद लगाए. इन 25 सालो में  आप सभी के प्यार और सहयोग ने राज कॉमिक्स के नाम को इंडियन कॉमिक्स जगत का बादशाह बना दिया. यह सफलता आपके प्यार, प्रोत्साहन और जनून के बिना संभव नहीं थी. मुझे विश्वाश है की आपका यह जनून हमे हमेशा मिलेगा और राज कॉमिक्स सफलता की सभी उंचाइयां छुएगी.
मैं आज आपको इस उत्सव कि कुछ झलकियां दिखा रहा हूँ. आशा करता हूँ कि जो दोस्त किन्ही निजी कारणों वर्ष इस वर्ष नहीं आ सके वे सभी अगले वर्ष जरुर उपस्थित हो कर इस उत्सव को एक महोत्सव बनायेंगे.
सबसे पहले शुरुआत हुई नागराज जन्मोत्सव और सिल्वर जुबली फंक्शन के केक काट कर. केक काटने का सौभाग्य मिला राज कॉमिक्स के 2 प्रसंशकों को.

 
 
केक का आनंद लेते हुए राज कॉमिक्स प्रेमी

इसके पश्चात सिल्वर जुबली वर्ष को यादगार बनाने के लिए कॉमिक्स जगत के धुरंधर चित्रकारों अनुपम सिन्हा जी, धीरज वर्मा जी, हेमंत जी, ललित शर्मा जी से बनवाए गए शानदार सिल्वर जुबली सीरीज के पोस्टर्स का उदघाटन इन्ही महान कलाकारों के हाथों से करवाया गया.

अनुपम जी ने इस पोस्टर की इलस्ट्रेशन की है और मोईन जी ने इसे कलर किया है.

इस पोस्टर को धीरज जी ने इलस्ट्रेट किया है. इसे श्री आर सी प्रकाश ने कलर किया है.


यह पोस्टर हेमंत जी ने इलस्ट्रेट किया है और रशीद जी ने कलर किया है. दोनों के समय पर उपस्थित ना हो पाने कि वजह से मनोज गुप्ता जी ने इस पोस्टर का उदघाटन किया.

यह पोस्टर ललित जी ने इलस्ट्रेट किया है और प्रदीप जी ने कलर किया है.

पोस्टर्स के उदघाटन के पश्चात विवेक जी ने फेंस के लिए कम्पीटिशन आयोजित किया. ‘Speak And Act’ & ‘Memory Test’

 

 

 

जब विवेक जी ने मेमोरी टेस्ट के सवाल पूछे तो सभी फेंस ने जवाब देने के लिए झट से हाथ उठा दिए.

सभी फेंस ने प्रतियोगिताओं में बढ़ चढ के भाग लिया और 8 विजेताओ को सिल्वर जुबली सीरीज के जम्बो पोस्टर्स पुरूस्कार में दिए गए.

विजेता पारिजात अनुपम जी से अपना उपहार लेते हुए.

विजेता स्वप्निल अनुपम जी से अपना उपहार लेते हुए.

विजेता संजय मनोज जी से अपना उपहार लेते हुए.

 विजेता साहिल मनोज जी से अपना उपहार लेते हुए.

विजेता राहुल धीरज जी से अपना उपहार लेते हुए.

 विजेता मुकेश धीरज जी से अपना उपहार लेते हुए.

 विजेता अनिरुद्ध धीरज जी से अपना उपहार लेते हुए.

 विजेता शादाब धीरज जी से अपना उपहार लेते हुए.

प्रतियोगिता के पश्चात सामूहिक भोजनावकाश हुआ.

लंच के उपरान्त  कॉमिक्स जगत के २ महान कलाकार अनुपम जी और धीरज वर्मा जी को  राज कॉमिक्स के सभी चाहने वालो की तरफ से कॉमिक्स जगत के उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया.

मनोज गुप्ता जी धीरज जी को सम्मानित करते हुए.

मनीष गुप्ता जी अनुपम जी को सम्मानित करते हुए.

इसके पश्चात अनुपम जी और धीरज जी कि Masters Classes हुईं जिनमे उन्होंने क्रमश: character development और comics making पर रौशनी डाली.

अनुपम सिन्हा जी.

धीरज वर्मा जी.

सभी फेंस ने इस workshop का लुत्फ़ उठाया.

अब बारी थी इस शाम के सबसे खास कार्येकर्म की- कल्पना लोक अवार्ड्स- 

दोस्तों इंसानी दीमाग की दो खुराक होती हैं सत्य और कल्पना. सत्य आप को news paper, news channels. से मिलता है और कल्पना आपको कॉमिक्स movies इत्यादि से मिलती है. कल्पना हमे आगे बढ़ने की राह दिखाती है और हमारा मनोरंजन करती है. इंसान को भगवान की अनुपम भेंट है कल्पना. यदि कल्पना नहीं होती तो तरक्की ना होती, अगर कल्पना नहीं होती तो मनोरंजन ना होता. मनोरंजन इंडस्ट्री भी न होती. यूँ तो सभी कल्पना करते हैं लेकिन कुछ लोगों की कल्पना की उड़ान सभी सीमायें तोड़ देती है. इन्हें कहते हैं कल्पना वीर या कल्पना नायक. ये कल्पना वीर दिमाग की छेनी से ऐसी कहानियां या चित्र गढते हैं जिन्हें देख कर बरबस ही मुह से वाह निकल जाती है. इन कल्पना वीरो की कला किसी को भी दीवाना बना देती है. कॉमिक्स जगत के मैदाने जंग में भी कई कल्पना वीरों ने कीर्तिमान बनाए और अपनी कल्पना के झंडे गाडे. इस सिल्वर जुबली वर्ष में राज कॉमिक्स कॉमिक्स जगत के इन सुपर हीरोस को हर वर्ष उनकी उत्कृष्ट कल्पना के लिए सम्मानित करने के लिए कल्पना लोक अवार्ड्स की शुरुआत कर रही है. यह अवार्ड्स हर साल आयोजित किये जाएंगें. इस वर्ष इन अवार्ड्स को आठ श्रेणियों में बांटा गया है. अवार्ड्स के नाम कॉमिक्स जगत के उन महा कल्पना नायकों पर रखे गए हैं जो अपनी कला का लोहा मनवा कर अमर हो गए. राज कॉमिक्स इन अवार्ड्स के द्वारा रचनाकारों को प्रोत्साहित करना चाहती है जिससे वो कल्पनाओं की उड़ान को नये आयामों तक ले जा सकें.
अवार्ड्स के nomination Raj Comics की editorial team ने किये हैं और Final Winners हमारे Readers की Online voting से चुने गए है.

Colorist of the Year Award
Nominees for the award:
Mr. Shadab Sidiqui
Mr. Rashid
Mr. Sunil
Winner of the award is Mr. Rashid.

मनोज जी से अवार्ड ग्रहण करते रशीद जी

Inker of the Year Award
Nominees for the award:
Mr. Sagar Thapa
Mr. Gaurav Shrivastav
Mr. Jagdeesh Kumar

Winner of the award is Mr. Jagdeesh Kumar

मनोज जी से अवार्ड ग्रहण करते जगदीश जी

Comedy Writer of the Year Award
Nominees for the award:

Mr. Nitin Mishra
Mr. Wahi Ji
Mr. Sushant Panda
Winner of the award is Mr. Nitin Mishra

मनोज जी से अवार्ड ग्रहण करते नितिन जी

Gauri Shankar Gupta -Action Writer of the Year Award
अपने समय की एक महान कॉमिक्स कंपनी मनोज कॉमिक्स के एक जन्मदाता थे गोरीशंकर जी. गौरी शंकर जी में कहानियों कि बेहद उम्दा समझ थी. वो बहुत ही उम्दा संपादक रहे. उनके संपादन में इंडियन कॉमिक्स जगत ने कई कीर्तिमान स्थापित करे. मनोज कॉमिक्स कि अपूर्व सफलता जो किसी परिचय कि मोहताज नहीं है वो गौरी शंकर जी कि ही महेनत का नतीजा रही है. उनकी याद में शुरू किये गए इस अवार्ड के nominees हैं:

Mr. Tarun Kr Wahi
Ms. Jolly Sinha
Mr. Nitin Mishra

Winner for this award is Mr. Tarun Kumar Wahi.

मनोज जी से अवार्ड ग्रहण करते वाही जी

Pradeep Sathe-Cover Artist of the Year Award
प्रदीप साठे जी अपने समय के एक बेहतरीन आर्टिस्ट रहे. राज कॉमिक्स, अमर चित्र कथा, टिंकल इत्यादि में इन्होने बहुत ही शानदार चित्रकथाएं बनायीं. गमराज, कालिया, अंगारा जेसे शानदार चरित्र उनकी बेमिसाल कला के परिचायक हैं.
इस अवार्ड के Nominees हैं:

Mr. Hemant
Mr. Anupam Sinha
Mr. Sushant Panda

Winner for the award is Mr. Hemant.

संजय जी से अवार्ड ग्रहण करते हेमंत जी

J S Bedi Award-Comedy Artist of the Year Award

भारत में कॉमेडी कॉमिक और स्वर्गिये बेदी जी का नाम एक दूसरे के पर्याय बन चुके हैं. किसी भी कॉमेडी कॉमिक्स में कहानी से भी ज्यादा महत्व होता है चित्रों में सही भावों कि अभिव्यक्ति का....बेदी जी के बनाए चित्रों ने लाखों पाठकों को हंसा हंसा कर लोट पोट किया है.
बेदी जी कि याद में समर्पित इस अवार्ड के Nominees हैं:

Mr. Sushant Panda
Ms. Stuti Mishra

Winner for the award is Mr. Sushant Panda.

सुशांत पांडा जी के उपस्थित ना हो पाने कि वजह से उनका अवार्ड श्री विवेक मोहन ने ग्रहण किया

Vijay Kadam-Realistic Artist of the Year Award
रियलस्टिक आर्ट में अग्रणी कदम Studios के एक अभिन्न अंग स्वर्गिये विजय कदम जी कॉमिक बुक आर्टिस्ट होने के साथ साथ एक गजब के Portrait Painter भी थे. और यही कारण है कि उनकी बनायीं कॉमिक्स में रियलस्टिक हाव भाव और body language देखने को मिलता है. रियलस्टिक जीवन को inspiration मानने वाले विजय जी ने अपनी कॉमिक्स को भी उसी खूबी से जीवंत बना दिया था.
उनकी याद में समर्पित इस अवार्ड के Nominees हैं:
Mr. Hemant
Mr. Anupam Sinha
Mr. Sushant Panda
Mr. Dildeep Singh
Mr. Manu

Winner for the award is Mr. Anupam Sinha.

संजय जी से अवार्ड ग्रहण करते अनुपम जी

Pratap Mullick-Comics of the Year Award
रिश्ते में तो Mullick Ji इंडियन कॉमिक्स जगत के पिता होते हैं...Character design, cover art, paneled pages, कॉमिक्स से जुडी हर विधा में मुलिक साहब ने भारतीये कॉमिक्स को अपनी आर्ट से एक नयी दिशा परदान की...और बेहतरीन कला के वो कीर्तिमान स्थापित किये जिसे छु पाना आज भी मुश्किल नहीं नामुमकिन है. उनके द्वारा बनायीं गयी कॉमिक्स किसी भी कॉमिक आर्टिस्ट के लिए पाठ्य पुस्तक के सामान है. जटिल से जटिल कहानी को अपने आर्ट की मदद से आसानी से कह जाना मुलिक साहब कि विशेषता रही है. और पूरी कहानी को एक पेंटिंग में समेत कर कवर बनाने में उनका कोई सानी नहीं. सही मायने में मुलिक साहब को एक सम्पूर्ण कॉमिक बुक आर्टिस्ट कहा जा सकता है. मुलिक साहब कि याद में समर्पित यह अवार्ड दिया जायेगा एक ऐसी कॉमिक्स को जो कि हर दृष्टिकोण से पाठकों कि कसोटी पर खरी उतरे. इस अवार्ड के लिए nominated कॉमिक्स हैं:
8:36
Chunauti
Statue
Sone Kee Leed

Winner for the award is Chunauti


मनीष जी द्वारा यह अवार्ड संयुक्त रूप से आर्टिस्ट एवं रायटर अनुपम जी और प्रकाशक संजय गुप्ता ने ग्रहण किया.

अत्याधिक जोश और उत्साह के साथ यह कार्येकर्म समाप्त हुआ और फिर कॉमिक्स फेंस ने अपने चहेते लेखकों और चित्रकारों के ओटोग्राफस लिए.

वाही जी और धीरज जी ओटोग्राफ देते हुए.

ललित जी फेंस के लिए चित्र बनाते हुए.

नितिन मिश्रा जी ओटोग्राफ देते हुए.

फेंस अनुपम जी को घेरे हुए.

मनीष गुप्ता जी फेंस के सवालों को जवाब देते हुए.

फेंस राज कॉमिक्स स्टाल से अपनी प्रिये कॉमिक्स खरीदते हुए.

तो प्यारे दोस्तों आप सभी के साथ बिताए यह बेहतरीन पल हमारी अनमोल यादों का हिस्सा बन चुके हैं. आप सभी का एक बार और धन्येवाद अदा करता हूँ और राज कॉमिक्स का हिस्सा बने रहने कि दुआ करता हूँ. अब अगले उत्सव के लिए जनून के साथ विदा.