Friday, August 29, 2014
| FAQ | Tutorials |
   
Text Size

Aug 22
2010

नागराज.......सुपर स्टार ऑफ़ राज कॉमिक्स

Posted by: Mukesh Gupta

Tagged in: Nagraj

Mukesh Gupta
सबसे पहले बात शुरू करते हैं लीड हीरोज़ की, और राज कॉमिक्स का सबसे अहम् और सबसे दमदार किरदार है 'नागराज'. नागराज एक ऐसा नायक जिसके पास है अद्भुत नाग शक्तियां और नागराज की कॉमिक्स का मुख्य आधार ही नागों और सर्पों की कहानियां है. नागों और सर्पों को पहले से ही हिन्दू माय्थोलोजी से जोड़कर देखा जाता रहा है. इसलिए नागराज को पूर्णतया भारतीय हीरो कहें तो कोई गलत नहीं होगा. हालाँकि ये कहा जाता रहा है की नागराज पश्चिमी देशों के सुपर हीरो 'Spider Man' से प्रेरित है. कुछ हद तक मन भी जा सकता है, पर जहाँ तक मेरा ख्याल है Spiderman और नागराज की कहानियों में ज़मीन आसमान का अंतर है. दोनों की शक्तियां कुछ हद तक मिलती-जुलती हो सकती है पर दोनों हीरोज़ एक दुसरे से बहुत अलग हैं.
मैंने नागराज को जब पहली बार पढ़ा था तो यही जानता था की नागराज वो हीरो है जिसके हाथों से सांप निकलते हैं. और नागराज की कॉमिक्स में नागराज और उसके सांपो की करामात देखकर मन में जो उन्माद पैदा होता था उसे अब बयान करना बहुत मुश्किल है. शुरुआत में नागराज की कॉमिक्स अच्छी तो होती थी पर उसमे कहानी पर ज्यादा ध्यान न देकर सिर्फ नागराज पर ध्यान दिया जाता था. नागराज को शुरुआत में एक प्रोफ़ेसर नागमणि का अविष्कार बताया गया जिसे आतंकवाद फ़ैलाने के लिए बनाया गया था पर महात्मा गोरखनाथ ने उसे नेकी के रस्ते में लाकर आतंकवाद को ख़त्म करने में लगा दिया. और नागराज अलग-अलग देशों में घूमता हुआ आतंकवाद को ख़त्म करता रहता था.
नागराज की शुरूआती कॉमिक्स में मुझे 'खुनी जंग' और 'प्रलयंकारी नागराज' में नागराज और उसके सांपो के कारनामे बहुत अच्छे लगे इसके अलावा 'कोबरा घाटी' में अलग-अलग प्रजाति के सांपो से लड़ना, 'इच्छाधारी नागराज' और 'बकोरा का जादू' में उसकी इच्छाधारी शक्तियां और 'नागराज और सुपर कमांडो ध्रुव' कॉमिक्स सबसे ज्यादा पसंद थी. बाद में नागराज की कहानी में एक मोड़ आया और नागराज के जन्म की नयी कहानी सामने आई जो बेहद दिलचस्प और जानदार थी और उसके बाद नागराज को एक नया रूप दिया गया 'राज' और फिर नागराज अलग-अलग देशों में जाने के बजाय महानगर में रहकर अपराधियों का खात्मा करने लगा. इसके बाद से नागराज की कहानियां और बेहतर होती चली गयी और नागराज की कहानियों में सांपो का ज़िक्र ज्यादा होता गया और उसकी कहानिया सांपो पर आधारित होती थी जैसे ज़हर, विषकन्या, स्नेक पार्क, केंचुली, बांबी, सपेरा, फन, सम्मोहन इत्यादि.  
इस तरह नागराज अपनी इस मनोरंजक दास्तान को आगे बढ़ाते हुए नयी उंचाईयों को छूने लगा. इसके बाद भी नागराज में कई बदलाव होते गए, हालाँकि उन बदलावों को मैं होते हुए देख नहीं पाया क्योंकि मुझे बीच में अपना कॉमिक्स का दीवानापन छोड़ना पड़ा, पर जब मैं दोबारा अपनी बिछड़ी दीवानगी में वापिस आया तो उस समय नागराज की महागाथा 'नागायण' चल रही थी और साथ ही साथ नागराज की एक और सिरीज़ 'आतंकहर्ता नागराज' भी चल रही थी. नागराज में हुए इन बदलावों को देखकर पहले तो कुछ अजीब लगा, पर जैसे जैसे फिर इसका आदि होने लगा तो ये भी बेहतरीन होती चली गयी. नागराज को और पोपुलर करने के लिए इस पर टीवी सीरियल और एनीमेशन फिल्म भी बनायीं गयी, हालाँकि उन पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया, टीवी सीरियल तो खैर कोई बात नहीं पर अगर नागराज की एनीमेशन फिल्म पर ध्यान दिया जाता या अभी भी अगर ध्यान दिया जाये तो भारतीय बच्चो को भी विदेशी सुपर हीरोज़ की जगह एक बेहतरीन हीरो मिल सकता है.
वैसे कहा जाता है की राज कॉमिक्स में नागराज को दुसरे किरदारों के मुकाबले ज्यादा तवज्जो दी जाती है, अगर दी भी जाती है तो मुझे तो इसमें कोई बुराई नज़र नहीं आती. नागराज, राज कॉमिक्स का पहला सुपरस्टार है, और राज कॉमिक्स की पहचान ही नागराज से होती है, तो अगर राज कॉमिक्स इसको भुनाने के लिए नागराज को ज्यादा तवज्जो देती है तो इसमें कुछ गलत तो नहीं है. खैर जो भी हो नागराज ने जो भी उपलब्धि हासिल की है, वो नागराज को भारतीय सुपर हीरो का दर्ज़ा दिलाने के लिए अहम् भूमिका अदा करती है. मुझे उम्मीद है की आगे भी नागराज और बेहतर होगा और सिर्फ भारत में ही नहीं विदेशों में भी नागराज के कारनामे उतने ही सराहे जायेंगे.
 
आपका
मुकेश गुप्ता