KHUNI VASIYAT

Email
Printed
KHUNI VASIYAT
Code: GENL-0015-H
Pages: 40
ISBN: 9788184914214
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Sarita Bharti
Penciler: Jagdish Pankaj
Inker: N/A
Colorist: N/A
Paper: Glossy
Condition: Fresh
Price: Printed
Rs. 75.00
Add to wish list
Description राजा टाइम्स के मालिक जी. डी. पोद्दार ने मरने से पहले एक वसीयत लिखवाई जिसके अनुसार उनका अख़बार उसके बेटे अशोक पोद्दार को मिलना था परंतु एक अजीबोगरीब शर्त के साथ कि वो अख़बार का मालिक तभी रह सकता है जब एक साल में उसकी प्रसार संख्या कम से कम एक बार न्यू दिल्ली टाइम्स से अधिक रह सके! इस अजीबोगरीब शर्त के कारण शहर में एक के बाद एक कत्ल और हादसों का सिलसिला शुरू हो गया! आखिर क्या वजह थीं उन कत्लों की? क्यों बन गई एक वसीयत खुनी वसीयत? जानने के लिए पढ़ें खूनी वसीयत!

Reviews

Tuesday, 18 February 2014
Its very good comic artwork is average
Prince Jindal