YE HAI DOGA

Email
Printed
YE HAI DOGA
Code: GENL-0405-H
Pages: 32
ISBN: 9788184918113
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Tarun Kumar Wahi, Sanjay Gupta
Penciler: Manu
Inker: N/A
Colorist: N/A
Paper: Glossy
Condition: Fresh
Price: Printed
Rs. 50.00
Add to wish list
Description डोगा की कहानी कौन नहीं जानना चाहेगा? डोगा कैसे बना ये बता रहें है अदरक चाचा। डाकू हलकान सिंह के साथी पकड़कर लाए एक मासूम लड़की सोनिया को। जिसे हलकान सिंह के पाले उस अनाथ कुत्ते के पिल्ले ने भागा दिया। तब उस अनाथ को सोनिया ने नाम दिया सूरज लेकिन हलकान सिंह से बच कर भागते समय सोनिया सूरज की नजरों के सामने ही नदी में डूब गई। नन्हे सूरज की आंखों में खून उतर आया। वो पुलिस बुला लाया। लेकिन पुलिस से बच निकला हलकान सिंह। मन में बदले की आग लिये सूरज मुम्बई आ गया। मुंबई में कैसे भरा उसने अपने जिस्म में फौलाद? कैसे बना वो अनाथ लड़का डोगा?
Paperback Comics/Books that are parts of same Series

Reviews

Friday, 07 February 2014
The evolution & discovery of Doga is explained again in this comics. A great story & artwork.
Rajal Sharma
Tuesday, 04 February 2014
Further explanation of sooraj & Doga. His story is just wow. Awesome comics with superb artwork. MUST READ
Avinash Tiwari
Friday, 31 January 2014
This was the second issue of doga. I was very young when i read it. First appearance of Adrak chacha & lion gym. Awesome story & artwork.
AATIF KHAN
More reviews