TANASHAH

Email
Printed
TANASHAH
Code: GENL-0429-H
Pages: 32
ISBN: 9788184918359
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Tarun Kumar Wahi
Penciler: Pratap Mulick, Gopal Nandukar
Inker: N/A
Colorist: N/A
Paper: Plain
Condition: Old Stock
Price: Stickered
Rs. 30.00
Add to wish list

Reviews

Saturday, 15 February 2014
Its very good comic artwork is average
Prince Jindal
Monday, 10 February 2014
पाताललोक में बसे गारुलोक के कुख्यात लुटेरे बागी ने बगावत कर कर दिया गारुलोक पर हमला। बगावत का सिर कुचलने के लिए चल पड़े सम्राट गारू परन्तु बागी ने अपने शैतानी शक्तियों के बल पर गारू को समाप्त कर बन गया गारुलोक का तानाशाह। अपनी जान बचाने के लिए महारानी अम्बिका, राजकुमार पालक को लेकर जा पहुंची पृथ्वी पर सप्तशक्ति धारक गोजो की शरण में। महारानी अम्बिका की कहानी सुन गोजो जा पहुंचा पाताललोक इधर बागी को भी लग गयी थी खबर महारानी और अम्बिका के पृथ्वी पर होने की इसलिए गोजो के आगमन से पूर्व वो भी प्रस्थान कर चूका था पृथ्वी पर। फिर क्या हुआ? जानने के लिए पढ़ें।
Mukesh Gupta
Saturday, 08 February 2014
gojo ka ek mastt comics.... zaroor padhiye
Shoaib Khan
More reviews