LOMRI

Email
Printed
LOMRI
Code: GENL-0692-H
Pages: 32
ISBN: 9789332400986
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Sanjay Gupta, Tarun Kumar Wahi
Penciler: Manu
Inker: N/A
Colorist: N/A
Paper: Plain
Condition: Fresh
Price: Printed
Rs. 50.00
Add to wish list
Description डोगा के पीछे पड़ गई है एक चालाक लोमड़ी जो उसे सलाखों के पीछे पहुंचाने की ख्वाहिशमंद है और डोगा पीछे पड़ा है लेब्रा के जो कुत्तों को नृशंसता से कत्ल करके किए जा रहा है चोरियां! क्या होगा इस टकराव का अंजाम? क्या डोगा रोकेगा लेब्रा के पागलपन को या डोगा को बेनकाब कर देगी चालाक लोमड़ी!
Paperback Comics/Books that are parts of same Series

Reviews

Tuesday, 04 February 2014
लोमड़ी और डोगा दोनों अपने तरीके से लेब्रा का रहस्य जानने में लग जाते हैं. दूसरी तरफ कमिश्नर सिन्हा इन्स. चीता पर भड़क रहा होता है जिससे चीता बुरी तरह से बौखलाया होता है और ऑफिस से बाहर चला जाता है. सूरज इन्साफ्चंद के घर की तलाशी लेने पहुँचता है जिससे की उसका यकीन शक में बदल जाए की वो ही लेब्रा है. इन्साफ्चंद और सूरज में बहस हो जाती है और सूरज उसे चेतावनी दे कर चोर देता है. रात को जब डोगा सड़क पे निकलता है तो उसे इन्साफ्चंद दिखाई देता है जो कम्बल ओढ़े अपने घर से बाहर निकलता है. तभी कोई पीछे से डोगा पर वार करता है और उसे उठा के ले जाता है. लेकिन उन लोगो को यह पता नहीं होता की उनके पीछे भी लोमड़ी लग चुकी है. अपने अड्डे पे ले जा कर लेबर, रंग बॉस, गोटी और चाभी और बाकी गुंडे डोगा के ऊपर बेहिसाब दरिंदगी दिखाते हैं. लेकिन डोगा के मूह से ओउफ़ तक नहीं निकलती. लोमड़ी यह सार दृश्य देख रही होती है लेकिन बीच में नहीं आती. लेकिन फिर उनके बेहिसाब ज़ुल्मो को देख वो बीच लड़ाई में कूद पड़ती है. अत्यधिक पीड़ा के कारण डोगा बेहोश हो जाता है और जैसे ही लोमड़ी उसके मास्क को हटाने लगती है कोई उस पर पीछे से वार करके डोगा को ले जाता है. कोई होता है जो यह नहीं चाहता की डोगा का राज़ खुले. कहानी बहुत ही अच्छी बनी है. डोगा पर हैवानियत दिखा कर उसकी चीख निकल वाने वाले खुद चीख चीख कर गिरते हैं. डोगा के जूनून को जज्बे को देख तो लोमड़ी उर्फ़ मोनिका भी अचंबित रह जाती है. मनु जी का आर्ट भी अच्छा है.
AKASH KUMAR BARNWAL
Friday, 31 January 2014
Finally an alter ego of Monika- Lomdi is introduced. Loved the comics. The end was a brain twister.
AATIF KHAN
Sunday, 20 October 2013
Finally Doga solved the puzzle and killed all the bad-guys. Lomri realized that she is doing exact the same of what she hates. But Then comes the twist who saved Doga and what's next??
Avinash Tiwari
More reviews