DOCTOR VIRUS

Email
Printed
DOCTOR VIRUS
Code: SPCL-0017-H
Pages: 64
ISBN: 9789332406568
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Anupam Sinha
Penciler: Anupam Sinha
Inker: N/A
Colorist: N/A
Paper: Glossy
Condition: Fresh
Price: Printed
Rs. 60.00
Description होनहार मगर विकृत मानसिकता रखने वाले शैतान वैज्ञानिक डॉक्टर वायरस के हाथ लग गया डॉक्टर वर्गिस का बनाया बीटा वायरस जिसके बल पर डॉक्टर वायरस बनाना चाहता है विशाल वायरस फौज! क्या रोक पाएगा ध्रुव डॉक्टर वायरस को या फिर हिस्सा बन जाएगा उसकी वायरस फौज का!

Reviews

Sunday, 09 February 2014
Another brilliant yet mad scientist is out of leash and wants his inventions to generate enormous money. But his creations are the various virus,from fatal to the ones that makes you invincible. The only thing he didn't knew was that the City had the nest Antivirus (pun-intended) . ;) A must read.
Ankur Kaushik
Sunday, 09 February 2014
beginning story of a main villain of rc Dr. virus. fantastic comics. and also about Dr. vargis who become barf manav. jab dr virus dhruva se takrata hai to oski madad ko aata hai barf mannav. very good story and artwork. nice to have it.
AYAZ AHMAD
Saturday, 08 February 2014
जीव विज्ञानी डॉक्टर वायरस जिसने एक और प्रसिद्ध जीव वैज्ञानिक डॉ वर्गिस का अनोखा अविष्कार बीटा वायरस चुरा कर भेज दिया उसको मौत के मुंह में और उस बीटा वायरस की मदद से तैयार की अपनी वायरल फ़ौज। परन्तु उसकी राह का रोड़ा बन बैठा सुपर कमांडो ध्रुव। ध्रुव को ख़त्म करने के लिए निकल पड़े डॉक्टर वायरस के वायरल प्राणी तब ध्रुव की मदद को आया बर्फ का बना एक अद्भुत इंसान। इधर ध्रुव का दोस्त वनपुत्र भी सामना कर रहा था वायरस के वायरल जीवों का वो भी आ पहुंचा ध्रुव की मदद को। कौन था ध्रुव की मदद करने वाला वो रहस्यमय बर्फ मानव? क्या ध्रुव, बर्फमानव और वनपुत्र मिलकर रोक पाए डॉक्टर वायरस की वायरल सेना को। जानने के लिए ज़रूर पढ़ें।
Mukesh Gupta
More reviews