RAAJ KA RAAJ

Email
Printed
RAAJ KA RAAJ
Code: SPCL-0169-H
Pages: 64
ISBN: 9789332408098
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Jolly Sinha
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Vitthal Kamble
Colorist: N/A
Paper: Plain
Condition: Fresh
Price: Printed
Rs. 60.00
Add to wish list
Description महानगर के एटॉमिक रिएक्टर से रहस्यमय ढंग से गायब हो जाती हैं यूरेनियम की छड़ें। फिर सामने आते हैं रेडिएशन से बने प्राणी जो चारों तरफ तबाही मचा देते हैं। और इन्हें रोकने के लिए जब नागराज सामने आता है तो उसको लगता है अपने जीवन का सबसे बड़ा झटका। उसका गुप्त रूप राज उसके सामने खड़ा था! अब राज का अस्तित्व नागराज के अस्तित्व से अलग हो गया है और बन गया है नागराज से भी ज्यादा शक्तिशाली। आखिर कैसे हुई यह अनहोनी?

Reviews

Friday, 07 February 2014
is comics mai Raj ka rup Nagraj se alag ho jata hai... kahani entertaning hai... aur artwork bhi mast hai.
PREM YADAV
Tuesday, 28 January 2014
The plot was very interesting. Loved the character reactor.
AATIF KHAN
Wednesday, 25 September 2013
I liked the comics. Reactor ka character bhi achha tha aur suru me Raj ki mystery ne bhi interest ko banaye rakha lekin end mujhe bada hi disappointing laga. It was quick, just like that. Doosari baat agar Nagraj sammohan me aakar Raj ko bhool gaya tha to phir wo dobara raj kaise ban paya??? baki comics was Ok but mujhe ye end theek nahi laga
Avinash Tiwari
More reviews