MUJHE MAARA ANTHONY NE

Email
Printed
MUJHE MAARA ANTHONY NE
Code: SPCL-0573-H
Pages: 56
ISBN: 9789332412224
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Tarun Kumar Wahi
Penciler: Taufik
Inker: N/A
Colorist: N/A
Paper: Plain
Condition: Fresh
Price: Printed
Rs. 50.00
Add to wish list

Reviews

Friday, 28 March 2014
यह कॉमिक्स की कहानी मुझे सिर्फ अच्छी लगी क्यूंकि कहानी के 4 खलनायको में से सिर्फ एक भ्रष्ट फौजी को छोड़कर बाकी 3 खलनायको को मरने की वजह मुझे बिलकुल भी जायज़ या न्यायपूर्ण नहीं लगी उनके अपराधो के लिए उन्हें सिर्फ जेल भेज जा सकता था लेकिन कभी कभी अंथोनी भी मुझे डोगा की तरह अतिवादी और हिंसावादी लगता है. लेकिन वाही जी ने भ्रष्ट फौजी की कहानी अच्छे ढंग से लिखी है और उसकी मानसिकता को लालच से जोड़ कर दिखाया है,कठोर सिंह का कार्य मुझे कही से भी अपराध की श्रेणी में नहीं लगा. तौफीक जी का चित्रांकन औसत है और उनके एक्शन दृश्य भी ठीक ठाक हैं. अंततः यह एक कमज़ोर कॉमिक्स है जिसमे किरदारो को न्याय नहीं मिला. 5/10
sachin dubey
Friday, 14 February 2014
an average comic story is fine and artwork is average too
Prince Jindal
Saturday, 01 February 2014
missing in my collection
Sunny Arora
Friday, 09 April 2010
I love this comic, asi aur comic ani caheya. The suspense is nice and the story gives you that THS feel. 4/5 easy
Ajaydeep Dhillon