DHIKKAR

Email
Printed
DHIKKAR
Code: SPCL-2463-H
Pages: 48
ISBN: 9789332415874
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Nitin Mishra
Penciler: Hemant
Inker: Amit
Colorist: Abdul Rasheed
Paper: Glossy
Condition: Fresh
Price: Printed
Rs. 50.00
Add to wish list
Description महाशक्तियों के साथ बंधी होती है परम कर्तव्यों की डोर! खुद का जीवन भुला कर करनी होती है दूसरों की सेवा! दूसरों के दुःख दूर करने के लिए करना होता है खुद के सुखों का बलिदान, तभी कोई रक्षक कहलाता है महाबली और जो महाबली हो जाता है अपने स्वार्थ में अंधा उसे मिलता है धिक्कार! अपने पारिवारिक सुख में खोये महाबली भोकाल को खोनी पड़ीं अपनी महाशक्तियां और झेलना पड़ा ना सिर्फ पृथ्वीलोक का बल्कि परीलोक का भी धिक्कार!
Paperback Comics/Books that are parts of same Series

Reviews

Sunday, 09 February 2014
kaafi samay ke baad bhokal ki ye comic aayi thi jisme ek alg pahlu dekhne ko mila. ham sab jaante the ki bhokal ki maa rani osika aur pita kazandev the, par is comic ne is prashna ko utha kar bhokal ke parichay aur astitwa par hi sawal utha diya. jarur padhiye ye visheshank
AKASH KUMAR BARNWAL
Thursday, 06 February 2014
best of bhokal, now bhokal oe aalop is without any power and he has to face his most venmous villain's ever , nice plot, loved yudhestveer
akash kumar
Thursday, 06 February 2014
ek zabardast comics.. artwork tagda hai..
Shoaib Khan
More reviews