DOGA DIGEST 13

Email
Printed
DOGA DIGEST 13
Code: DGST-0102-H
Pages: 192
ISBN: 9789332423985
Language: Hindi
Colors: Four
Author: Tarun Kumar Wahi, Sanjay Gupta,
Penciler: Dheeraj Verma, Anupam Sinha, Man
Inker: Vinod Kumar
Colorist: Sunil-Pandey
Paper: Glossy
Condition: Fresh
Price: Printed
Rs. 160.00
Add to wish list
Description दौ फौलाद-89 सुपर कॉप इंस्पेक्टर स्टील को कुछ विध्वंसक हथियारों की सुरक्षा के लिये राजनगर से मुम्बई भेजा गया। डोगा ले उड़ा वह सारे हथियार और इंस्पेक्टर स्टील अरैस्ट वारंट लेकर उसके पीछे पड़ गया। कानून के फौलाद सुपर कॉप इंस्पेक्टर स्टील ने डोगा नाम के फौलाद को गिरफ्तार करने की ऐसी चाल चली कि डोगा के भी पसीने छूट गये। वर्दी और बदूंक -232आंतकवादी गुप अलफसान के जेल में बदं साथी ममूद भाई को छुडा़ने के लिये आतंकवादियों ने राज नगर में मचाया उत्पात। आंतकवादियों के उत्पात को रोकने आया सुपर कॉप इंस्पेक्टर स्टील और आया मुम्बई का बाप डोगा भी यानी कि एक तरफ थी इंस्पेक्टर स्टील की वर्दी की ताकत दूसरी तरफ थी डोगा की बदूंक की गोली, जो मुजरिमों का सीना फाड़ देना चाहती थी। कानून की नजर में तो खुद डोगा भी एक मुजरिम ही था। तो क्या हुआ वर्दी और बंदूक के इस टकराव का अजांम? वेलकम डोगा वेलकम स्टील -255 मुंबई की न्यूक्लियर रिसर्च लैब में डॉक्टर प्रलय ने बनाया एक भयानक हथियार! लैब के एक ईमानदार वैज्ञानिक प्रभात जोशी ने जान लिया उसका राज! डॉक्टर प्रलय के गुडों ने प्रभात जोशी को मौत देने में कोई कसर नहीं छोड़ी लेकिन डोगा ने प्रभात जोशी को बचा लिया! प्रभात जोशी पहुंच गया अपने परिवार के पास राजनगर! लेकिन मौत ने वहां भी उसका पीछा नहीं छोड़ा! मरते मरते उसने सारा राज इन्स्पेक्टर स्टील को बता दिया और उसने इन्स्पेक्टर स्टील से वायदा लिया कि वो हर हाल में देश को डॉक्टर प्रलय के पंजे से बचाएगा! इन्स्पेक्टर स्टील पहुंच गया मुंबई जहां डोगा की मदद से उसने डॉक्टर प्रलय को मात दी!

Reviews

There are yet no reviews for this product.